मुख्यमंत्री के सख्त निर्देश और पुलिस के पहरे से, गांजा तस्करों ने बदला तरीका

रायपुर bkb डेस्क: मुख्यमंत्री के सख्त निर्देश के बाद प्रदेश में हो रहे अवैध तस्कर और शराब समेत हुक्का पीने-पिलाने वाले पर कड़ाई बरती जा रही है। इसी कड़ी में बस्तर पुलिस ने पिछले 11 महीनों में 1.77 करोड़ रुपए का 3 हजार 400 किलो गांजा जब्त किया है। ये वे आंकड़े हैं जिन तस्करों पर पुलिस ने कार्रवाई किया था। यह भी कहा जा रहा है कि ओडिशा से हर महीने लाखों रुपए का गांजा छत्तीसगढ़ पहुंचता है। और यहीं से अन्य राज्यों में निर्यात किया जाता है।पुलिस विभाग के आंकड़ों की माने तो पिछले लगभग 11 महीनों में 85 आरोपियों को गांजा की तस्करी करते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया है। इन कृत्यों में कई महिलाएं भी शामिल हैं। साथ ही साथ तस्करों से 30 से ज्यादा वाहन भी जब्त किए गए हैं। जिनमें ट्रक, बाइक, कार समेत अन्य वाहन शामिल हैं। गांजा तस्करों पर ज्यादातर कार्रवाई छत्तीसगढ़-ओडिशा सीमा पर लगे नगरनार थाना इलाके में ही हुई है।मुख्यमंत्री के कड़े निर्देश और पुलिस विभाग के सख्त पहरा होने के चलते अब तस्करों ने तरीका बदल दिया है। लेकिन, रूट वही है। कार, ट्रक और बाइक जैसी वाहनों की चेकिंग लगातार हो रही है। इस वजह से तस्कर अब बस और ट्रेन का सहारा लेने लग गए हैं। इधर हाल ही में जगदलपुर बस स्टैंड में एक तस्कर को लाखों रुपए के गांजा के साथ पकड़ा गया था। इसके अलावा कांकेर पुलिस ने भी जगदलपुर से रायपुर जाने वाली बस में लाखों रुपए के गांजा के साथ तस्कर को गिरफ्तार किया था। ये तस्कर ओडिशा से गांजा लेकर आए थे। इनमें से एक तस्कर दिल्ली के रईसजादों को गांजा देने के लिए जा रहा था।

baatkibaat

Read Previous

कार्यभारित तथा आकस्मिकता मद से वेतन पाने वाले कर्मचारियों के लिए वेतन पुनरीक्षण के चतुर्थ किश्त के भुगतान का आदेश जारी

Read Next

निगम जोन 6 स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मच्छरों की कारगर रोकथाम हेतु टेमीफास दवा से वार्ड 60 के विभिन्न स्थानों में एन्टी लार्वा ट्रीटमेंट अभियान चलाया