‘चल हट कोनो देख लिही’ नारी शक्ति को सलाम

रायपुर bkb डेस्क:छत्तीसगढ़ी सिनेमा के मशहूर डायरेक्टर सतीश जैन की बहु प्रतिक्षित फ़िल्म ‘चल हट कोनो देख लिही’ 13 मई को छत्तीसगढ़ के सिनेमाघरों में प्रदर्शित होने जा रही है। ‘चल हट…’ के ट्रेलर को बड़ी तारीफ़ मिल रही है। यू ट्यूब पर इसके गाने भी लगातार देखे जा रहे हैं। सतीश जी ने इस बार नये हीरो दिलेश साहू पर हाथ आज़माया है। ट्रेलर में जिस तरह अंजली सिंह चौहान का हक़ की लड़ाई लड़ने वाला किरदार सामने आया है उससे प्रतीत होता है ‘चल हट…’ में नारी चरित्र काफ़ी मजबूती के साथ सामने लाया गया है।सतीश जैन स्वीकार करते हैं कि ‘चल हट कोनो देख लिही’ नारी सशक्तिकरण पर केन्द्रित है। ‘मिसाल’ से हुई एक ख़ास बातचीत के दौरान सतीश जैन ने बताया कि “चल हट कोनो देख लिही में गांव की किसान औरत अपने हक़ के लिए कद्दावर लोगों से लड़ जाती है। वह अपने अधिकारों को लेकर सजग है। यह रोल अंजली सिंह चौहान ने किया है। काफ़ी पॉवरफुल रोल है। ट्रेलर देख चुके लोग अंजली के किरदार की काफ़ी तारीफ कर रहे हैं। उनके पक्ष में काफ़ी कमेन्ट्स लिखे जा रहे हैं।“उसे जी पाते हैं। ‘चल हट…’ में मनोज ने अपने किरदार को बख़ूबी जिया है। वह वन टेक एक्टर है। ‘चल हट…’ में स्टार कलाकार अनुज शर्मा की नन्ही बेटी आरूग एवं जाने-माने कोरियोग्राफर निशांत उपाध्याय की भतीजी आद्या भी पर्दे पर दिखेंगी। फ़िल्म में अनिकृति चौहान पर एक ऐसा गाना है जिसमें कि उसके बचपन से लेकर बड़े होने तक दिखाया गया है। इस गाने में हमने अनुज की बेटी और निशांत की भतीजी को लिया। दोनों ही बच्चियां पर्दे पर काफ़ी सुंदर लगी हैं। ये कहें कि दोनों अन्नी जैसी ही लगी हैं। छोटे बच्चों से काम लेना बेहद कठिन होता है। निशांत ने उस गाने में बच्चों से बख़ूबी काम लिया है।“सतीश जैन के बारे में कहा जाता है कि उनकी किसी भी फ़िल्म की रिलीज़िंग से पहले उनके चेहरे पर भारी तनाव नज़र आता है, यह जिक्र करने पर वे कहते हैं- “हर फ़िल्म अपने आप में बड़ा इम्तिहान होती है। बड़ी चुनौती होती है। इसलिए डरा रहता हूं। दर्शकों का जजमेंट जहां किसी फ़िल्म को बहुत बड़ा बना देता है वहीं एक ही दिन में ख़त्म भी कर देता है।“

baatkibaat

Read Previous

धौरपुर को मिली एसडीएम कार्यालय और महाविद्यालय की सौगात

Read Next

रायपुर में फिर चाकूबाजी