नगर निगम जोन 8 द्वारा दुर्गा माता की मूर्तियों के विसर्जन की तैयारियां पूर्ण

रायपुर bkb : नगर पालिक निगम रायपुर के महापौर एजाज ढेबर, आयुक्त प्रभात मलिक,निगम संस्कृति विभाग अध्यक्ष आकाश तिवारी, निगम जोन 8 के जोन अध्यक्ष घनश्याम छत्री के निर्देश पर नगर निगम जोन क्रमांक 8 की टीम ने आदिशक्ति की प्रतीक देवी माता दुर्गा की मूर्तियों को ससम्मान खारून नदी के तट पर महादेवघाट के अस्थाई मूर्ति विसर्जन कुंड में विसर्जित करने श्रद्धालुओं की सुविधा सहित माननीय नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल, छत्तीसगढ़ शासन के पर्यावरण विभाग, रायपुर जिला प्रशासन द्वारा दिये गये मूर्ति विसर्जन से सम्बंधित दिशा – निर्देशों का पूर्ण व्यवहारिक पालन करवाने के प्रशासनिक कार्य दायित्व को विशेष रूप से ध्यान में रखते हुए सभी आवश्यक व्यवस्थायें प्रशासनिक रूप से पूर्ण कर ली हैँ. आज रायपुर जिला कलेक्टर  सौरभ कुमार एवं नगर निगम आयुक्त प्रभात मलिक ने महादेवघाट स्थित मूर्ति विसर्जन के अस्थाई विसर्जन कुंड की प्रशासनिक व्यवस्थाओं का प्रत्यक्ष अवलोकन निगम जोन 8 के जोन कार्यपालन अभियन्ता संजय शर्मा की उपस्थिति में किया एवं व्यवस्था की स्थल समीक्षा कर उन्हें आवश्यक निर्देश दिये. नगर निगम जोन 8 के जोन कार्यपालन अभियन्ता संजय शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि नगर निगम द्वारा दुर्गा माता की मूर्तियों के विसर्जन हेतु सभी आवश्यक तैयारियां की गयी हैं. अस्थाई विसर्जन कुंड के जल के शुद्धिकरण हेतु ब्लीचिंग पावडर एवं एलम की व्यवस्था की गयी है. वैकल्पिक प्रकाश व्यवस्था देने की तैयारी के तौर पर जनरेटर की व्यवस्था रखी गयी है. परिसर में अस्थाई वाहन पार्किंग की व्यवस्था उपलब्ध कराई गयी है.श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से पूजा सामग्रियों के विसर्जन हेतु ड्रम्स की व्यवस्था की गयी है. परिसर में कचरा परिवहन के लिये दो चक्रीय एवं चारपहिया वाहनों का प्रबंध स्वच्छता निरंतरता से परिसर में कायम रखने किया गया है.सम्पूर्ण परिसर में सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था की गयी है. अस्थाई विसर्जन कुंड क्षेत्र के परिसर में कानून व्यवस्था एवं शान्ति कायम रखने पुलिस कंट्रोल रूम पुलिस बल की व्यवस्था देने बनाया गया है, पृथक से नगर निगम रायपुर के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी हेतु नगर निगम कंट्रोल रूम बनाया गया है, निगम अधिकारी एवं कर्मचारीगण यहाँ लगातार ड्यूटी करते हुए सम्पूर्ण विसर्जन व्यवस्था का संचालन सभी शासकीय विभाग के अधिकारियों के सहयोग से मॉनिटरिंग के साथ करेंगे. परिसर में जवारा विसर्जन हेतु प्रवेश स्थल चिन्हाकित किया गया है एवं पूजा सामग्रियों की कंपोस्टिंग की व्यवस्था दी गयी है. अस्थाई विसर्जन परिसर में अस्थाई शौचालय की व्यवस्था दी गयी है. इसी प्रकार से मूर्ति विसर्जन सुविधा के लिये अस्थाई विसर्जन कुंड में क्रेन, नावों, गोताखोरों की टीम को सुसज्जित रूप में तैनात किया गया है।

baatkibaat

Read Previous

भूपेश ने कहा-धनतेरस के एक दिन पहले ‘राजीव गांधी न्याय योजना’ की तीसरी किस्त, खुशहाली में मनेगी किसानों की दिवाली

Read Next

मुख्यमंत्री 20 अक्टूबर को  धनवंतरी दवा योजना का करेंगे शुभारंभ