सैनिकों के सम्मान से आने वाली पीढ़ियों को मिलेगी देशभक्ति के लिए प्रेरणा

रायपुर bkb डेस्क:भारत-पाकिस्तान युद्ध 1971 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में शामिल भारतीय सैनिकों के प्रति सम्मान प्रदर्शित करने तथा नागरिकों में गर्व की भावना जागृत करने के उद्देश्य से स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा निकाली गई है।इसी तारतम्य में सैनिकों की स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा के रायपुर छत्तीसगढ़ पहुंचने पर राजधानी स्थित साइंस कॉलेज ऑडोटोरियम में उनका सम्मान किया गया। इस युद्ध में छत्तीसगढ़ के भी 100 से अधिक सैनिकों ने हिस्सा लिया था। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू शामिल हुए।गृहमंत्री साहू ने सम्मान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि भारत पाक युद्ध 1971 में भाग लेने वाले सैनिकों के सम्मान के लिए स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का छत्तीसगढ़ पहुंचना गौरव की बात है। इससे आने वाली पीढ़ी को प्रेरणा मिलेगी। साथ ही देश की रक्षा के लिए तत्पर सैनिकों के प्रति सम्मान की भावना बढ़ेगी।

baatkibaat

Read Previous

छत्तीसगढ़ में पिछले कुछ दिनों में मची धार्मिक, राजनीतिक, हिंसक और अन्य घटनाएं

Read Next

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल की बिगड़ी तबीयत… रामकृष्ण में एडमिट